National Nutrition Mission

Section 377 ruling and medical interventions
July 1, 2019
Extreme Weather Event-Induced Deaths in India 2001–2014
July 1, 2019

National Nutrition Mission

राष्ट्रीय पोषण मिशन महिला और बाल विकास मंत्रालय का एक प्रमुख कार्यक्रम है। मिशन का उद्देश्य 2017-18 से शुरू होने वाले अगले तीन वर्षों के दौरान 0-6 वर्ष, किशोरियों, गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं से बच्चों के पोषण की स्थिति में सुधार करना है।

National Nutrition Mission is a major program of the Ministry of Women and Child Development. The aim of the mission is to improve the nutritional status of children from 0-6 years, adolescent girls, pregnant women and lactating mothers during the next three years beginning from 2017-18.

राष्ट्रीय पोषण मिशन जो प्रत्यक्ष नकद हस्तांतरण के माध्यम से महिलाओं और किशोरियों में स्टंटिंग, कम पोषण और एनीमिया को कम करने पर केंद्रित है, कुपोषण को मिटाने की दिशा में एक बड़ा कदम है। भारत में कुपोषण को कम करने के लिए पहला और सबसे महत्वपूर्ण कदम गर्भवती और स्तनपान कराने वाली माताओं को पर्याप्त पोषण प्रदान करना है। तब बच्चे को कुपोषित होने का खतरा नही होता है।

National Nutrition Mission, which focuses on stunting, low nutrition and reduction of anemia in women and adolescent girls through direct cash transfer, is a major step towards eradicating malnutrition. The first and most important step to reduce malnutrition in India is to provide adequate nutrition to pregnant and lactating mothers. Then the child is not prone to being malnourished.

इस अभियान का उद्देश्य विभिन्न कार्यक्रमों यानि आंगनवाड़ी सेवाओं, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, किशोरियों के लिए योजना, जननी सुरक्षा योजना, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, स्वच्छ भारत मिशन, सार्वजनिक वितरण प्रणाली, महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के साथ अभिसरण प्राप्त करना है।

The aim of this campaign is to get convergence with various programs ie Anganwadi services, Prime Minister Mata Vandana Yojana, Scheme for Adolescent Girls, Janani Suraksha Yojna, National Health Mission, Clean India Mission, Public Distribution System, Mahatma Gandhi National Rural Employment Guarantee Scheme.

भारत में यूनिसेफ के प्रतिनिधि यास्मीन अली हक ने कहा कि वर्तमान नीतियां प्रमुख रूप से गर्भवती माताओं और स्तनपान करने वाले बच्चों पर केंद्रित हैं, लेकिन सरकार को यह भी सोचने की जरूरत है कि बढ़ते बच्चों को पोषण कैसे प्रदान किया जाए। उन्होंने कहा कि यूनिसेफ सरकार के साथ स्वच्छ भारत, मिशन इन्द्रधनुष, टीकाकरण नीतियों और पोषण अभियान जैसी पहलों पर काम करना जारी रखेगा।

Yasmin Ali Huq, the representative of UNICEF in India, said that current policies are mainly focused on pregnant mothers and breastfeeding children, but the government also needs to consider how to nurture growing children. He said that UNICEF will continue to work with the government on initiatives such as Clean India, Mission Windshield, Vaccination Policies, and Nutrition Campaign.

Samudra IAS brings A UPSC mains test series 2019 for All UPSC candidates with Highly Recommended By IAS toppers the 
The benefit of this Test series:-
(1)Based on The Hindu News Paper
(2)Cover Your whole year Daily current affairs 
(3)Available in Reasonable Price
To book Your IAS mains test series click below button

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0