GDP grows 8.2% in April-June

holistic development of Andaman and nicobar
May 24, 2019
Falling rupee value
May 24, 2019

GDP grows 8.2% in April-June

2018-19 की अप्रैल-जून तिमाही में विनिर्माण, निर्माण और कृषि क्षेत्रों में मजबूती का कारण 8.2% की दर से बढ़ी जोकि दो साल में सबसे अधिक है। आंकड़ों के अनुसार 7.5% की अनुमानित वार्षिक वृद्धि दर से अधिक रहने की उम्मीद है. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने ट्वीट किया कि "वैश्विक उथल-पुथल के माहौल में" 8.2% की वृद्धि दर हासिल करना "न्यू इंडिया की संभावना" का प्रतिनिधित्व करता है

In the April-June quarter of 2018-19, due to the manufacturing, construction, and strengthening of the agriculture sector, the rate of 8.2% was the highest, which is the highest in two years. According to the data, expected to be more than the estimated annual growth rate of 7.5%. Finance Minister Arun Jaitley tweeted that achieving a growth rate of 8.2% in “an environment of global turmoil” represented the “potential of New India

2016 की जनवरी-मार्च तिमाही की 9.3% की वृद्धि के बाद 2018-19 के दूसरे क्वार्टर में यह उच्चतम थी। हालाँकि 2017-18 की पहली तिमाही में सबसे कम 5.6% की वृद्धि दर रही थी. केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय ने एक बयान में कहा कि 2018-19 की पहली तिमाही में स्थिर (2011-12) कीमतों पर सकल घरेलू उत्पाद (रुपये) 33.74 लाख करोड़ रुपये अनुमानित है। जोकि 2017-18 की पहली तिमाही में 31.18 लाख करोड़ रु था

This was the highest in the second quarter of 2018-19, after the 9.3% increase in the January-March quarter of 2016. Although there was an increasing rate of 5.6% in the first quarter of 2017-18. The Gross Domestic Product (GDP) at constant (2011-12) prices in the first quarter of 2018-19 are estimated at Rs. 33.74 lakh crore as against Rs. 31.18 lakh crore in Q1 of 2017-18, the Central Statistics Office said in a statement.

प्रधान मंत्री के आर्थिक सलाहकार परिषद के अध्यक्ष बिबेक देबरॉय ने कहा, "अनिश्चित अंतरराष्ट्रीय माहौल और अस्थिर कच्चे तेल की कीमतों के बावजूद, भारत की निरंतर वृद्धि मजबूत आर्थिक बुनियादी बातों के कारण प्रतिकूल वैश्विक परिस्थितियों के लिए इसके मजबूत लचीलेपन को दर्शाता है

Bibek Debroy, Chairman of the Economic Advisory Council to Prime Minister said, “Despite an uncertain international environment and volatile crude oil prices, India’s sustained growth reflects its strong resilience to adverse global conditions, because of strong economic fundamentals.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0