Extreme Weather Event-Induced Deaths in India 2001–2014

National Nutrition Mission
July 1, 2019
How to do essay writing
July 8, 2019

Extreme Weather Event-Induced Deaths in India 2001–2014

अनुसंधान-आधारित संगठन जनसंख्या परिषद द्वारा 2001-2014 तक देश भर में किए गए एक अध्ययन का उल्लेख है कि मौसम से संबंधित मौतें विश्व स्तर पर बढ़ रही हैं और भारत में आंकड़े 25% की दर से आगे बढ़ रहे हैं। 2001 से 2014 तक, भारत में सभी अप्राकृतिक मौतों का 25% अप्राकृतिक कारणों से हुआ, जो चरम मौसम की घटनाओं के परिणामस्वरूप है, इसमें कहा गया कि पुरुषों और बुजुर्गों को अधिकतम जोखिम हुआ है. इस अध्ययन का शीर्षक है- ‘एक्सट्रीम वेदर इवेंट-इंडिकेटेड डेथ्स इन इंडिया 2001-2014: ट्रेंड्स एंड डिफरेंशियल बाय रीजन, सेक्स एंड एज ग्रुप'.

A study conducted across the country from 2001-2014 by research-based organization Population Council states that weather-related deaths are increasing globally and statistics in India are moving at a rate of 25%. From 2001 to 2014, 25% of all unnatural deaths in India occurred due to unnatural reasons, which are the result of extreme weather events, it said that men and the elderly were at maximum risk. The title of this study is ‘Extreme Weather Event-Induced Deaths in India 2001–2014: Trends and Differentials by Region, Sex and Age Group’,

अत्यधिक वर्षा और उष्णकटिबंधीय चक्रवातों के कारण मौतों में समय के साथ गिरावट आई, जबकि बिजली और अत्यधिक तापमान की स्थिति में एक बढ़ती प्रवृत्ति देखी गई। मध्य भारत में मौतें सबसे अधिक हुई और आंध्र प्रदेश, बिहार, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र और पश्चिम बंगाल मौसम की सबसे बड़ी घटनाओं से सबसे अधिक प्रभावित हुए थे।


Due to excessive rainfall and tropical cyclones, deaths declined over time, while there was a growing trend in lightning and extreme temperature conditions. The deaths were highest in central India and Andhra Pradesh, Bihar, Uttar Pradesh, Maharashtra and West Bengal were most affected by the biggest events of the Weather.
अधिकांश मौतें बिजली गिरने (40%), अत्यधिक वर्षा (24%), हीटवेव (20%) और शीत लहर (15%) के कारण हुई हैं। अध्ययन में यह भी पाया गया कि चरम मौसम की वजह से देश में पुरे वर्ष और क्षेत्रों में महिलाओं की तुलना में पुरुषों की अधिक मृत्यु हुई।
कम आयु वर्ग के लोगों की तुलना में 60 वर्ष या उससे अधिक आयु वाले व्यक्तियों की मृत्यु ठंड (47%) और हीटवेव (42%) के कारण हुई।

Most deaths are due to falling lightning (40%), excessive rainfall (24%), heat wave (20%) and cold wave (15%). It has also been found in the study that due to extreme weather, males have more deaths than women in the entire year and areas. Compared to people of lower age group, the deaths of people 60 years or more were due to cold (47%) and heatwave (42%).

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0