COMCASA

Mini space elevator
June 4, 2019
Section 377 is irrational
June 4, 2019

COMCASA

नई दिल्ली में आयोजित भारत-यूएस ‘2 + 2’ मंत्रिस्तरीय वार्ता के अंत में भारत और संयुक्त राज्य अमेरिका ने संचार संगतता और सुरक्षा समझौते (COMCASA) पर हस्ताक्षर किए हैं जो नई सैन्य साझेदारी की नई पीढ़ी का नेतृत्व करेंगे। COMCASA चार आधारभूत समझौतों में से एक है जो अन्य देशों के साथ रक्षा क्षेत्र में अमेरिकी उच्च प्रौद्योगिकी सहयोग का मार्गदर्शन करता है।

At the end of the Indo-US "2 + 2" Ministerial Dialogue held in New Delhi, India and the United States have signed the Communication Compatibility and Security Agreement (COMCASA), which will lead a new generation of new military partnership. COMCASA is one of the four basic agreements that guides American high technology cooperation with other countries in the defense sector.

COMCASA का अभिप्राय अपनी क्षमता का पूरी तरह से दोहन करने के लिए अमेरिका द्वारा भारत को बेचे जा रहे सैन्य प्लेटफार्मों पर स्थापित किए जाने वाले उच्चस्तरीय सुरक्षित संचार उपकरणों के उपयोग की सुविधा देना है। यह अनिवार्य रूप से अमेरिका से भारत को संचार सुरक्षा उपकरणों के हस्तांतरण के लिए कानूनी ढांचा प्रदान करता है, जो दोनों देशों के सशस्त्र बलों के बीच अंतर करेगा और अन्य उग्रवादियों के साथ संभावित रूप से सुरक्षित डेटा लिंक के लिए यूएस-मूल सिस्टम का उपयोग करने की सुविधा प्रदान करेगा। इस मामले में इंटरऑपरेबिलिटी का अर्थ है कि एन्क्रिप्टेड और गुप्त तकनीकों या संचार तक पहुंच होगी

COMCASA is meant to facilitate the use of high-level secure communication devices to be installed on military platforms sold to India by the US to tap its potential fully. This essentially provides a legal framework for the transfer of communications security devices from the US to India, which would differentiate between the armed forces of both the countries and it will facilitate to use the US-Basic system for potentially secure data links with other militants. In this case, interoperability means access to encrypted and secretive technologies or communications.

यह अमेरिका द्वारा भारत को बेचे जा रहे सैन्य प्लेटफार्मों पर स्थापित किए जाने वाले उच्चस्तरीय सुरक्षित संचार उपकरणों के उपयोग की सुविधा प्रदान करेगा और उनकी क्षमता का पूरी तरह से दोहन करेगा। इन प्लेटफार्मों में सी -130 जे, सी -17, पी-8 आई विमान और अपाचे और चिनूक हेलीकॉप्टर शामिल हैं। इससे भारत और अमेरिका की सेनाओं और सैन्य हार्डवेयर के बीच अधिक अंतर पैदा होगा, और संभवत: अन्य देशों के साथ भी जो यूएस-मूल प्लेटफार्मों पर काम करते हैं।

It will facilitate the use of high-level secure communication devices to be installed on US military platforms sold to India and fully exploit their capabilities. These platforms include C-130J, C-17, P-8I aircraft and Apache and Chinook helicopters. This will create a big difference between India and US military and military hardware, and possibly with other countries who work on US-based platforms.

COMCASA भारत की सुरक्षा और राष्ट्रीय हितों को ध्यान में रखता है। यह प्रासंगिक उपकरणों तक पूर्ण पहुंच प्रदान करेगा और कोई व्यवधान नहीं होगा। ऐसी प्रणालियों के माध्यम से प्राप्त डेटा का खुलासा या भारत की सहमति के बिना किसी व्यक्ति या संस्था को हस्तांतरित नहीं किया जाएगा। इसे दोनों देशों द्वारा दूसरे के राष्ट्रीय सुरक्षा हितों के अनुरूप लागू किया जाएगा।

COMCASA considers India's security and national interests. It will provide full access to relevant equipment and there will be no interruption. The data received through such systems will not be disclosed or transferred to any person or organization without the consent of India. It will be implemented by both countries according to the other national security interests.

भारत ने 2002 में सैन्य सुरक्षा समझौते (GSOMIA) की सामान्य सुरक्षा और 2016 में लॉजिस्टिक्स एक्सचेंज मेमोरेंडम ऑफ एग्रीमेंट (LEMOA) पर हस्ताक्षर कर दिए हैं। जियो-स्पेसियल कोऑपरेशन के लिए बुनियादी विनिमय और सहयोग समझौता (BECA) पर भारत द्वारा हस्ताक्षरित और बातचीत शुरू करना अभी बाकी है।

India has signed General Security of Military Security Agreement (GSOMIA) in 2002 and the Logistics Exchange Memorandum of Agreement (LEMOA) in 2016. There is still a need to sign and negotiate with India on the Basic Exchange and Cooperation Agreement (BECA) for geo-specific co-operation.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0