Cheetah reintroduction project

Legislative Council in Odisha
May 17, 2019
US-Iran tension
May 18, 2019

Cheetah reintroduction project

मध्य प्रदेश के वन विभाग ने राज्य के सागर जिले में स्थित नौरादेही अभयारण्य में चीता को फिर से लाने के लिए, चीता प्रजनन परियोजना को पुनर्जीवित करने के लिए राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण (एनटीसीए) को पत्र लिखा है। कार्ययोजना के अनुसार, अफ्रीका के नामीबिया से नौरादेही में लगभग 20 चीतों को स्थानांतरित किया जाना है।

Madhya Pradesh Forest Department has written a letter to the National Tiger Conservation Authority (NTCA) to revive the cheetah reproduction project to bring cheetah again in the Nairadehi Sanctuary located in the Sagar district of the state. According to the plan of action, about 20 cheetahs have to be transferred from Namibia to Nairobi in Africa.

चीता जोकि सबसे तेज दौड़ने वाला पशु है उसे 1942 में भारत से विलुप्त घोषित किया गया था। भारत में अंतिम एशियाटिक चीता (एसिनोनिक्स जुबेटस वेनेटिकस) की मृत्यु 1947 में छत्तीसगढ़ में हुई थी। इस प्रजाति की विलुप्ति ब्रिटिश औपनिवेशिक अधिकारियों और भारतीय राजपरिवारों के शिकार करने के कारण हुई थी.

The cheetah, which is the fastest running animal, was declared extinct in India in 1942. In India, the last Asiatic Cheetah (Acinonyx jubatus veneticus) died in 1947 in Chhattisgarh. The extinction of this species was due to hunting British colonial officers and Indian royals.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0