Bali Declaration and Rohingya issue

India’s first biofuel flight
May 20, 2019
PM-STIAC
May 20, 2019

Bali Declaration and Rohingya issue

भारत ने म्यांमार के साथ एकजुटता दिखाने के लिए इंडोनेशिया के बाली में आयोजित सतत विकास पर विश्व संसदीय मंच के समापन पर अपनाई गई बाली घोषणा का हिस्सा बनने से इनकार कर दिया है। जिसका कारण है राखाइन राज्य में हिंसा के बाद 1,25,000 रोहिंग्या बांग्लादेश भाग जाना।

India has refused to be part of Bali's declaration adopted on the conclusion of the World Parliamentary Forum on the continuous development held in Bali, Indonesia to show solidarity with Myanmar. The reason behind this is that after the violence in Rakhine state, 1,25,000 Rohingyas flee to Bangladesh.

क्योंकि यह घोषणा सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) के सहमत वैश्विक सिद्धांतों के अनुरूप नहीं थी। भारत ने म्यांमार के राखीन राज्य में जारी हिंसा पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए घोषणा के एक हिस्से पर आपत्ति जताई। भारत ने अपना रुख दोहराया कि संसदीय मंच बुलाने का उद्देश्य एसडीजी के कार्यान्वयन के लिए आपसी सहमति पर पहुंचना था जिसमें समावेशी और व्यापक-आधारित विकास प्रक्रियाओं की आवश्यकता थी

India has refused to be part of Bali's declaration adopted on the conclusion of the World Parliamentary Forum on the continuous development held in Bali, Indonesia to show solidarity with Myanmar. The reason behind this is that after the violence in Rakhine state, 1,25,000 Rohingyas flee to Bangladesh.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0